रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने

IMG 20220912 WA0014

फसी भवर में थी मेरी नैया।

रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है,
जो पेड़ हमने लगाया पहले,
उसी का फल हम अब पा रहे है,
रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है।।

इसी धरा से शरीर पाए,
इसी धरा में फिर सब समाए,
है सत्य नियम यही धरा का,
है सत्य नियम यही धरा का,
एक आ रहे है एक जा रहे है,
रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है।।

जिन्होने भेजा जगत में जाना,
तय कर दिया लौट के फिर से आना,
जो भेजने वाले है यहां पे,
जो भेजने वाले है यहां पे,
वही तो वापस बुला रहे है,
रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है।।

बैठे है जो धान की बालियो में,
समाए मेहंदी की लालियो में,
हर डाल हर पत्ते में समाकर,
हर डाल हर पत्ते में समाकर,
गुल रंग बिरंगे खिला रहे है,
रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है।।

रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है,
जो पेड़ हमने लगाया पहले,
उसी का फल हम अब पा रहे है,
रचा है सृष्टि को जिस प्रभु ने,
वही ये सृष्टि चला रहे है।।

My Naya was in a busy state.

The Lord who has created the universe,
The Lord who has created the universe,
He is running this
The tree we planted earlier,
We are getting the fruits of that now,
The Lord who has created the universe,
He is driving this vision.

Get the body from this earth,
In this earth again everyone is absorbed,
This is the true rule of the earth,
This is the true rule of the earth,
One is coming, one is going
The Lord who has created the universe,
He is driving this vision.

Who sent to go into the world,
decided to come back again,
Who is going to send here,
Who is going to send here,
That’s what’s calling back
The Lord who has created the universe,
He is driving this vision.

Who is sitting in the ears of paddy,
In the radiance of mehendi,
By covering every branch in every leaf,
By covering every branch in every leaf,
Gules are feeding colorfully,
The Lord who has created the universe,
He is driving this vision.

The Lord who has created the universe,
He is running this
The tree we planted earlier,
We are getting the fruits of that now,
The Lord who has created the universe,
He is driving this vision.

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on reddit
Share on vk
Share on tumblr
Share on mix
Share on pocket
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *