Bhakti

images 37

सत्संग 1

मित्रतापरमात्मा का वरदान हैएक खिलावट हैनिर्दोष सपनों, अहसासों, मुस्कानों की.वह निरुद्देश्य बहती ज़िंदगी की नदी है।और जो भी उसके किनारे

Read More...
download 26

परम हितैषी

*एक साधु भिक्षा लेने एक घर में गये । उस घर में माई भोजन बना रही थी और पास में

Read More...
download 19

Quote 29

अंतर्मन में श्याम बसें,!! धड़कन में राधा रानी हो !!निज साँस की उथल पुथल में, मुरली की तान सुहानी हो

Read More...
images 66

Quote 19

प्रेम का उपवन बिखेर धरा परकण-कण में स्नेह-पुष्प खिला दोश्री भगवान पतझड़ झाड़ की नींव हटा कर। प्यार विश्वास की

Read More...
buddha 199462 640

शुद्ध भाव

पुराने समय की बात है। उस समय संत महापुरुष घूमते फिरते किसी किसी स्थान पर महीने दो महीने के लिए

Read More...
OIP 1

संतोष का धन

पंडित श्री रामनाथ शहर के बाहर अपनी पत्नी के साथ रहते थे | एक दिन जब वो अपने विद्यार्थिओं को

Read More...
IMG 20220601 WA0005 1

कृष्ण कन्हैया

तुम संग ब्याह के लिएफेरो की जरूरत कहां,,,?समर्पण हो सच्चा ,तो रिश्ता रहे कैसे कच्चा,, तुम्हारी सुहागिन के लिएसिंदूर की

Read More...