सभी जातियाँ सम्माननीय हैं

पुराने जमाने में जब हॉस्पिटल नहीं होते थे.. तो बच्चे की नाभि कौन काटता था।
मतलब पिता से भी पहले कौनसी जाति बच्चे को स्पर्श करती थी ??
आपका मुंडन करते वक्त कौन स्पर्श करता था ??
शादी के मंडप में नाईं और धोबन भी होती थी।
लड़की का पिता, लड़के के पिता से इन दोनों के लिए साड़ी की मांग करता था।
वाल्मीकियों के बनाये हुए सूप से ही छठ व्रत होता हैं!
आपके घर में कुँए से पानी कौन लाता था ??
भोज के लिए पत्तल कौन सी जाति बनाती थी ??
किसने आपके कपड़े धोये ??
डोली अपने कंधे पर कौन मीलो-मीलो दूर से लाता था और उनके जिन्दा रहते किसी की मजाल न थी कि आपकी बिटिया को छू भी दे।
किसके हाथो से बनाये मिटटी की सुराही से जेठ महीने में आपकी आत्मा तृप्त हो जाती थी ??
कौन आपकी झोपड़ियां बनाता था ??
कौन फसल लाता था ???
कौन आपकी चिता जलाने में सहायक सिद्ध होता हैं ??
जीवन से लेकर मरण तक सब सबको कभी न कभी स्पर्श करते थे।
. . . और कहते है कि छुआछूत था।
यह छुआछूत की बीमारी सनातन धर्म विरोधी षडयंत्रकारियो और अंग्रेजों ने हिंदू धर्म को तोड़ने के लिए एक साजिश के तहत डाली थी।
जातियां थी, पर उनके मध्य एक प्रेम की धारा भी बहती थी, जिसका कभी कोई उल्लेख नहीं करता।
अगर जातिवाद होता तो राम कभी सबरी के झूठे बेर ना खाते,निषादराज को गले नहीं लगाते।
बाल्मीकि के द्वारा रचित रामायण कोई नहीं पढता,
कृष्ण कभी सुदामा के पैर ना धोते! रैदास को सन्त का दर्जा नहीं देते, कबीर के भजन आज नहीं गाते।
जाति में मत टूटिये, धर्म से जुड़िये…!!
देश जोड़िये.. सभी को अवगत कराएं!
!! सभी जातियाँ सम्माननीय हैं !!
!! एक हिंदु, एक भारत, श्रेष्ठ भारत !! 🚩‼️ मेरे प्रभु मेरे श्रीराम ‼️🚩 🚩 ‼️ जय श्री सीताराम ‼️🚩



In olden times, when there were no hospitals, who would cut the navel of a child? Meaning, which caste used to touch the child even before the father?? Who touched you while you were shaving?? There was also a barber and washerman in the wedding hall. The girl’s father used to demand sarees for both of them from the boy’s father. Chhath fast is observed only with the soup prepared by Valmiki. Who brought water from the well to your house?? Which caste used to make leaves for feast?? Who washed your clothes?? Who used to carry the doli on his shoulder from miles and miles away and while he was alive no one had the courage to even touch your daughter. By whose hands did your soul get satisfied with the clay pot made in the month of Jeth?? Who used to build your huts?? Who brought the crops??? Who proves helpful in lighting your pyre?? From life till death, everyone touched everyone at one time or the other. , , , And it is said that there was untouchability. This disease of untouchability was introduced by the anti-Sanatan Dharma conspirators and the British as part of a conspiracy to break the Hindu religion. There were castes, but a stream of love also flowed among them, which no one ever mentions. If there was casteism then Ram would never have eaten the false berries of Sabri or hugged Nishadraj. No one reads Ramayana written by Valmiki. Krishna would never have washed Sudama’s feet! Raidas is not given the status of a saint, Kabir’s hymns are not sung today. Don’t get divided on caste lines, join religion…!! Add country.. let everyone know! , All castes are respectable!! , One Hindu, One India, Best India!! 🚩‼️ My Lord my Shri Ram ‼️🚩 🚩 ‼️ Jai Shri Sitaram ‼️🚩

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on reddit
Share on vk
Share on tumblr
Share on mix
Share on pocket
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *