देश और राष्ट्र की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करे

हम प्रार्थना देश और राष्ट्र की सुरक्षा के लिए करे  प्रार्थना देश के प्रधान के लिए करे। हे ईश्वर देश की बागडोर आपके हाथ में है  देश के सर्वोच्च सत्ताधारी में राष्ट्र कल्याण कुट कुट कर भरा हुआ हो । देश के प्रत्येक नागरिक मे धर्म संस्कृति हो। सनातन संस्कृति यही है कि एक सनातनी के अन्दर कुट कुट कर देश का कल्याण जन जन का भरा हुआ होता है। वह जन जन को खुशहाल जीवन जीते हुए देखना चाहता है। सनातन संस्कृति में नीज सुख का कोई मुल्य नहीं है। जिस देश का प्रधान अपने जीवन को  जन जन के सुख में  समर्पित करता है उस समय देश की गोरव गाथा पनपती है। भारत देश में जब जब कर्तव्य निष्ठ शासकों के हाथो में बागडोर आई है तभी देश प्रगति के पथ पर चलता आया है। अ देश के नागरिकों हमें राम राज्य की स्थापना के लिए अपने आप को तैयार करना है। राम राज्य तभी स्थापित होगा जब दिल राम भक्ति मे लीन होगा।
भगवान राम का मन्दिर सजाया है वैसे ही हम भगवान राम को दिल में बिठाएगे। हम सब भिन्न दिखते हुए भी हम सब एक है और एकता के सुत्र में बंध कर भारत को उच्च शिखर पर भगवान राम के नमन और वन्दन में भारत का गोरव छुपा हुआ है आओ हम सब राम राज्य हिन्दू संस्कृति को वन्दन करे । राम हमारे दिल को रोशन कर देना राम नाम की गूंज राष्ट्र में गुंजती रहे हम सब भारतीयों में राष्ट्रीयकरण कुट कुट कर भरा हुआ हो हम
एक बार मन ही ईश्वर से प्रार्थना करते रहे देश के कल्याण मे सबका कल्याण है जय श्री राम अनीता गर्ग



Let us pray for the security of the country and the nation. Let us pray for the head of the country. O God, the reins of the country are in your hands. May the supreme ruler of the country be fully invested with the welfare of the nation. Every citizen of the country should have religious culture. Sanatan culture is such that inside a Sanatani, the welfare of the people of the country is filled. He wants to see people living a happy life. There is no value for one’s own happiness in Sanatan culture. The glorious story of the country flourishes when its leader dedicates his life to the happiness of the people. In India, whenever the reins have come into the hands of dutiful rulers, the country has moved on the path of progress. A. Citizens of the country, we have to prepare ourselves for the establishment of Ram Rajya. Ram Rajya will be established only when the heart is absorbed in Ram devotion. The temple of Lord Ram has been decorated, similarly we will keep Lord Ram in our heart. Even though we all look different, we are all one and tied in the thread of unity, the pride of India is hidden in the salute and worship of Lord Ram at the high peak. Let us all worship Ram Rajya Hindu culture. Ram, enlighten our hearts, may the echo of Ram’s name resonate in the nation, may we all Indians be filled with nationalism. Keep praying to God once in your mind, for the welfare of the country, welfare of all, Jai Shri Ram Anita Garg

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on reddit
Share on vk
Share on tumblr
Share on mix
Share on pocket
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *