नौ दुर्गा कन्या पूजन

नौ दुर्गा का मतलब नौ वर्ष की कन्या की पूजा करना होता है। कन्या पूजन दो वर्ष की कन्या से शुरू किया जाता है।

2 वर्ष की कन्या को ‘ कुमारिका ‘ कहते हैं और इनके पूजन से धन , आयु , बल की वृद्धि होती है।

3 वर्ष की कन्या को ‘ त्रिमूर्ति ‘ कहते हैं और इनके पूजन से घर में सुख समृद्धि आती है।

4 वर्ष की कन्या को ‘ कल्याणी ‘ कहते हैं और इनके पूजन से सुख तथा लाभ मिलते हैं।

5 वर्ष की कन्या को ‘ रोहिणी ‘ कहते हैं इनके पूजन से स्वास्थ्य लाभ मिलता है।

6 वर्ष की कन्या को ‘ कालिका ‘ कहते हैं इनके पूजन से शत्रुओं का नाश होता है।

7 वर्ष की कन्या को ‘ चण्डिका ‘ कहते हैं इनके पूजन से संपन्नता ऐश्वर्य मिलता है।

8 वर्ष की कन्या को ‘ साम्भवी ‘ कहते हैं इनके पूजन से दुःख-दरिद्रता का नाश होता है।

9 वर्ष की कन्या को ‘ दुर्गा ‘ कहते हैं इनके पूजन से कठिन कार्यों की सिद्धि होती है।

10 वर्ष की कन्या को ‘ सुभद्रा ‘ कहते हैं इनके पूजन से मोक्ष की प्राप्ति होती है….

।। जय माता की ।।



Nau Durga means worship of a nine year old girl. Kanya puja is started from two year old girls.

A 2 year old girl is called ‘Kumarika’ and worshiping her increases wealth, age and strength.

A 3 year old girl is called ‘Trimurti’ and worshiping her brings happiness and prosperity in the house.

A 4 year old girl is called ‘Kalyani’ and worshiping her brings happiness and benefits.

A 5 year old girl is called ‘Rohini’, worshiping her gives health benefits.

A 6 year old girl is called ‘Kalika’. Worshiping her destroys enemies.

A 7 year old girl is called ‘Chandika’. Worshiping her brings prosperity and wealth.

An 8 year old girl is called ‘Sambhavi’. Worshiping her eliminates sorrow and poverty.

A 9 year old girl is called ‘Durga’, worshiping her leads to accomplishment of difficult tasks.

A 10 year old girl is called ‘Subhadra’, worshiping her leads to salvation.

, Hail to mother goddess ..

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on reddit
Share on vk
Share on tumblr
Share on mix
Share on pocket
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *