रामायण (Ramayan)

सुमित्रा जी ने लक्ष्मण को ज्ञान दिया

जननी,जनक,बन्धु,सुत,दारा…..तन,धन,भवन, सुह्रद,परिवारा…..सबके ममता ताग बटोरी…मम पद मनहि बाँधि बर डोरि….. क्रमशः से आगे……..सन्त जन कहते है कि शरीर के पति

Read More...

“अनोखी गुरुदक्षिणा”

.                                     महर्षि अगस्त्यजी के शिष्य सुतीक्ष्ण गुरु-आश्रम में रहकर अध्ययन करते थे। विद्याध्ययन समाप्त होने पर एक दिन गुरूजी

Read More...

धर्म रथ 2

पिछले कई दिवसों से धर्म और धर्मशीलता के विषय पर चर्चा चिन्तन हो रहा है ये सारा चिंतन धर्म रथ

Read More...

धर्म रथ 1

भगवान राम ने विभीषण जी का संशय दूर करने के लिए पूरे धर्म रथ का सन्तो ने किस प्रकार से

Read More...