गीता (Geeta)

भगवद गीता में कर्म फल

आज का प्रभु संकीर्तन।जीवन में सदेव कर्म करते रहना चाहिए। क्योंकि भगवद गीता में भगवान श्री कृष्ण ने कहा है

Read More...

भगवद्गीता अठारहवें अध्याय का माहात्म्य

श्रीपार्वतीजी ने कहाः भगवन् ! आपने सत्रहवें अध्याय का माहात्म्य बतलाया। अब अठारहवें अध्याय के माहात्म्य का वर्णन कीजिए। श्रीमहादेवजी

Read More...
IMG

भगवद्गीता सत्रहवें अध्याय का महात्मय

भगवद्गीतासत्रहवें अध्याय की अनन्त महिमाश्रीमहादेवजी कहते हैं:- पार्वती! अब सत्रहवें अध्याय की अनन्त महिमा श्रवण करो, राजा खड्गबाहू के पुत्र

Read More...